July 24, 2019

सांप्रदायिक सद्भाव को बढ़ावा देने के लिए, उत्तर प्रदेश के चिलौवा गांव में एक मुस्लिम परिवार ने अपनी बेटी रुखसार की शादी के निमंत्रण कार्ड पर भगवान राम और सीता की छवि छपवाई।

रुखसार की मां बेबी ने कहा, “इस गांव में हिंदू और मुस्लिम दोनों एक साथ रहते हैं। हम लोगों के बीच सांप्रदायिक सौहार्द को बढ़ावा देना चाहते हैं। हमें अपने धर्म के आधार पर खुद को नहीं बांटना चाहिए।” दुल्हन के भाई,  मोहम्मद उमर ने कहा कि ग्रामीण खुशी से शादी के निमंत्रण को स्वीकार कर रहे हैं। उन्होंने कहा, “हम इस पर लोगों की प्रतिक्रिया देखकर खुश हैं।”

गाँव में एक ही मुस्लिम परिवार

अल्लाहगंज थानाक्षेत्र के चिलौआ गांव में रहने वाले इबारत अली की बेटी की शादी 30 अप्रैल को अल्लाहगंज निवासी सोनू के बेटे के साथ होनी है। इबारत अली ने बेटी की शादी में न्यौता देने के लिए निमंत्रण पत्र में मक्का मदीना या मुस्लिम धर्म के फोटो न छपवा कर भगवान राम और सीता के स्वयंवर की फोटो छपवाई है।

अली ने सोमवार को बताया कि, ‘चिलौआ गांव में 1800 की हिन्दुओं की आबादी है। गांव में अकेले उनका ही मुस्लिम परिवार रहता है परंतु हिंदुओं ने हमें कभी भी एहसास नहीं होने दिया कि हम मुस्लिम हैं।’ 

उन्होंने बताया कि वह हिन्दू-मुस्लिम दोनों धर्मों को मानने वाले व्यक्ति हैं इसीलिए गांव के प्रसिद्ध देवी मंदिर में उन्होंने सबसे पहले अपनी बेटी का निमंत्रण पत्र चिलौआ देवी माता को अर्पित किया है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)

Pooja Ahuja

View all posts

Add comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *